स्वराज मंच और राष्ट्रीय जनतांत्रिक अभियान ने बीएसपी को दिया समर्थन

गाजीपुर

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में चुनावी मुकाबला गहराता जा रहा है। देश के मशहूर शिक्षाविद और कभी अन्ना आंदोलन की कोर टीम में रहे प्रो. आनंद कुमार मंगलवार को गाजीपुर पहुंचे। यहां उन्होंने बीएसपी कैंडिडेट उमेश सिंह के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित किया। प्रो. कुमार ने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक अभियान के राष्ट्रीय संयोजक के रूप में वह अपना समर्थन उमेश सिंह को देते हैं। साथ ही, उन्होंने कहा कि उमेश सिंह को स्वराज मंच का भी समर्थन हासिल है। जंगीपुर में डॉ. अम्बेडकर कुमार पहलवान महाविद्यालय पांडेयपुर राधे में बीएसपी कार्यकर्ता बैठक और सभा का आयोजन किया गया।
 
बसपा की बैठक में अन्ना आंदोलन के सूत्रधार और दिल्ली स्थित देश के प्रख्यात शिक्षाविद और राजनीतिक चिंतक प्रो. आनंद कुमार मुख्य वक्ता के तौर पर मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि बसपा सुप्रीमो मायावती को हम धन्यवाद देते है कि एक आंदोलनधर्मी और छात्रों नौजवानों के शिक्षा और रोजगार के सवाल पर उनके साथ लगभग तीन दशक तक लड़ने वाले उमेश सिंह को बीएसपी ने टिकट दिया है। उन्होंने यह भी कहा कि बीएचयू छात्रसंघ के पूर्व महामंत्री डॉ. उमेश को गाजीपुर लोकसभा से बीएसपी ने अपना प्रत्याशी बनाकर लोकतंत्र और लोकसभा दोनों को समृद्ध और सबल बनाने का काम किया है।

राजनीति की शुचिता और लोक के प्रति जवाबदेही तय तभी होगी, जब डॉ. उमेश जैसे राजनीतिक एक्टिविस्ट देश के बड़ी पंचायत में जाएंगे। जन के लिए तंत्र तभी काम करेगा, जब धनबल और बाहुबल को दरकिनार कर एक राष्ट्रीय पार्टी मुद्दों और संवेदनाओं पर लड़ने वाले प्रत्याशी को चुनाव मैदान में उतारेगी। प्रो. आनंद कुमार ने डॉ. उमेश को संसद में भेजने के लिए समर्थन मांगा।

उमेश सिंह को समर्थन का ऐलान
एनबीटी ऑनलाइन से बातचीत में प्रो. आनंद कुमार ने बताया कि वह राष्ट्रीय जन लोकतांत्रिक अभियान के राष्ट्रीय संयोजक के तौर पर उमेश सिंह को समर्थन देने के लिए गाजीपुर आए थे। हालांकि, अभियान ने निर्णय किया है कि सीधे तौर पर चुनाव में शामिल नहीं होंगे। लेकिन, जहां-जहां वैकल्पिक उम्मीदवार मजबूत दिखेंगे। उनका अभियान की ओर से समर्थन किया जाएगा ।दिल्ली में कन्हैया कुमार के साथ ही देश के लोकसभा सीटों पर उतारे गए तमाम उम्मीदवारों का चिन्हांकन अभियान की ओर से किया गया है। उसी क्रम में उमेश कुमार को अपने अभियान की ओर वह समर्थन देने की घोषणा करते हैं।

प्रो. आनंद कुमार ने बताया कि स्वराज मंच भी इसी परिपाटी पर सत्ता पक्ष के वैकल्पिक उम्मीदवारों को समर्थन दे रही है। स्वराज मंच में भी चुनाव में हिस्सा नहीं लेने का निर्णय लिया है। जल्द ही उमेश सिंह के समर्थन में प्रशांत भूषण जैसे लोग भी गाजीपुर आएंगे।

छात्र राजनीति से गाजीपुर कैंडिडेट का सफर
एनबीटी ऑनलाइन से पीजी कॉलेज में राजनीति शास्त्र के विभाग के अध्यक्ष डॉ. सुनील कुमार ने बताया कि बीएसपी कैंडिडेट उमेश सिंह छात्र राजनीति से सक्रिय राजनीति में आए हैं। वह काशी हिंदू विश्वविद्यालय के छात्र रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस भी की। उनके शिक्षाविदों के अलावा कानून के जानकारों, वकीलों से भी अच्छे संपर्क हैं। बौद्धिक समाज का राजनीतिक समर्थन मिलने से जाहिर बात है कि उनके हक में एक स्वस्थ माहौल खड़ा होगा। उन्होंने कहा कि इसका सीधे तौर पर वोटों पर कितना लाभ होगा, इस पर कुछ भी कहना फिलहाल जल्दबाजी होगी।
  

Source : Agency

10 + 5 =

Sandeep Shrivastava (Editor in Chief)

Mobile:    (+91) 8085751199

Chhatisgarh Bureau Office: Face-2, Kabir Nagar, Tati Bandh, Raipur (CG) Pin: 492099